Amazon Business

Amazon Business
New way to Grow Online

ये कैसी मज़बूरी . . .

ये कैसी मज़बूरी . . . जो थे कभी हमारे खास जो  थे बनके मेरी  सांस आज कर ली मुझसे दूरी हाय यह है कैसी मज़बूरी क्या हो गई मुझसे  कमी इसकी...
Read More

संघर्ष . . .

संघर्ष . . . जिंदगी कितनी मिली ये कभी मत सोचो। जिंदगी में क्या कुछ तुम्हें मिला ये सोचो। जिंदगी मिली है तुम्हें कुछ करने के लिए। इसे त...
Read More

संगनी का साथ . . .

संगनी का साथ . . . मैं अब कैसे बतलाऊँ,  अपने बारे में लोगो। कैसे करूँ गुण गान,  अपने कामो का में। बहुत कुछ सीखने को,  मिला मुझे यहाँ पर।...
Read More

उलझनें . . .

उलझनें . . . यू जिंदगी की उलझनों में हम उलझते चले गये। न जीने की चाह है और न मरने का डर। यू जिंदगी की उलझनों में हम उलझते चले गये।। घर...
Read More

क्यों लुभाती हो . . .

क्यों लुभाती हो . . . खनकती चूड़ियां तेरे मुझे क्यों लुभाती है। खनक तेरी पायल की हमको क्यों बुलाती है। हँसती हो जब तुम तो दिल खिल जाता ...
Read More

मजदूर दिवस . . .

मजदूर दिवस . . . देश की प्रगति में श्रमिकों का बड़ा हाथ होता है। तभी देश की रीड इनको कहा जाता है। बिना मजदूरों के कोई भी कुछ कर नहीं स...
Read More

दूर से राम राम . . .

दूर से राम राम . . . किसी को क्या पता था, की ऐसा भी दौर आएगा। जिसमें इंसान इंसान से, दूरसे ही राम राम करेगा।। कहाँ हमसब हिल मिलकर, एक ...
Read More

संदेश . . .

संदेश . . . नींद आती नहीं, चैन पाते नहीं । फिर भी तड़पाने से, बाज आते नहीं। थोड़ा सा बदलो, अपना तुम दृष्टिकोण। कुछ तो जैनधर्म का, अनुसरण...
Read More

इस पोस्ट पर साझा करें

| Designed by Techie Desk