मजदूर दिवस . . .

मजदूर दिवस . . . देश की प्रगति में श्रमिकों का बड़ा हाथ होता है। तभी देश की रीड इनको कहा जाता है। बिना मजदूरों के कोई भी कुछ कर नहीं स...
Read More

दूर से राम राम . . .

दूर से राम राम . . . किसी को क्या पता था, की ऐसा भी दौर आएगा। जिसमें इंसान इंसान से, दूरसे ही राम राम करेगा।। कहाँ हमसब हिल मिलकर, एक ...
Read More

संदेश . . .

संदेश . . . नींद आती नहीं, चैन पाते नहीं । फिर भी तड़पाने से, बाज आते नहीं। थोड़ा सा बदलो, अपना तुम दृष्टिकोण। कुछ तो जैनधर्म का, अनुसरण...
Read More

जिंदगी क्या है . . .

जिंदगी क्या है . . . फूल बन कर  मुस्कराना जिन्दगी है l  मुस्कारे के गम  भूलाना जिन्दगी है l मिलकर खुश होते है  तो क्या हुआ l बिना मिले...
Read More

छोड़ दिये . . .

छोड़ दिये . . . चले थे साथ मिलकर किसी मंजिल की तरफ। बीच में ही साथ छोड़कर निकल लिए और के साथ। अब किस पर यकीन करें इस जमाने में साथ के लिए।...
Read More

डर नही अब राम का . . .

डर नही अब राम का . . . राम थे महान इसलिए लोग करते है उनका सदा गुण गान। राम थे मर्यादा पुरूषोत्तम इसलिए शक्तिशाली थे। राम थे विष्णु के ...
Read More

इंसान का दर्द . . .

इंसान का दर्द . . . इंसान इंसान को समझता है इसलिए वह प्यार करता है। उनके जज्बातो को जानता है इसलिए वह प्यार करता है। और प्यार की परिभाषा...
Read More

न समझ सका . . .

न समझ सका . . . सब कुछ होते हुए भी यहाँ वहाँ खोजता रहा। जिसे तुझे खोजना था वो तेरे से दूर होता गया। और तू प्रभु का खेल कभी समझ न सका। ...
Read More

इंसान हो . . .

इंसान हो . . . इंसान की औलाद हो,  इंसान तुम बनो। इंसानियत को दिलमें, अपने जिंदा तुम रखो। मतलब फरोश है ये दुनियाँ, जरा इससे बचके रहो। ल...
Read More

माया . . .

माया . . . दिल से दिल मिलाकर देखो। जिंदगी की हकीकत को पहचानो। अपना अपना करना भूल जाओगें। और आखीरमें एक ही पेड़ की छाया के नीचे आओगें। और ...
Read More

रावण बात सुने . . .

रावण बात सुने . . . रावण कहता है एक बात मेरी सुन लो। क्यों वर्षो से मुझे यू  जलाये जा रहे हो। फिर भी तुम मुझे जला  नहीं प् रहे हो। हर वर...
Read More

वो चेहरा . . .

वो चेहरा . . . फूल खिलकर भी उदास हैं ।  समुद्रको आज भी  पानी की प्यास हैं।  एक बार तो आप मुस्करा दो।  जिंदगी को हंसी की तलाश है।।  दिख...
Read More

गुलाब हो या दिल . . .

गुलाब हो या दिल . . . गुलाब हो या मेरा या उसका तुम हो दिल। तुम ही बतला दो अब ये खिलते गुलाब जी।। दिल में अंकुरित हो तुम। इसलिए दिलकी ड...
Read More

सब पा लिया . . .

सब पा लिया . . . तेरा प्यार पा के हमने सब कुछ पा लिया है। तेरे दर पर आके हमने सिर को झुका लिया है।। तेरा प्यार पा के हमने सब कुछ पा लिया...
Read More

देश का विकास या . . .

देश का विकास या . . . न वो इंसान है न वो शैतान है। इनको जो बाटे वो हैवान है।। इन हैवानो का भारत में सबसे ज्यादा बोलावाला हैं। जो इंसानो ...
Read More

प्यार का सन्देश . . .

प्यार का सन्देश . . . रेत पर नाम लिखने से क्या होगा। क्या उनको संदेशा तुम दे पाओगें। जब वो आये यहां पर घूमने को। उसे पहले कोई लहर...
Read More

भारत प्यारा . . .

भारत प्यारा . . . देश हमारा प्यारा है सबका बहुत दुलारा है। तभी अनेकता में एकता  हम सब का नारा है।  देश हमारा प्यारा है..।।   बहुभाषाएँ...
Read More

इस पोस्ट पर साझा करें

| Designed by Techie Desk