वो ज़माना और था . . .

वो ज़माना और था...😌 कि जब दरवाजों पे ताला नहीं भरोसा लटकता था । कि जब पड़ोसियों के आधे बर्तन हमारे घर और हमारे बर्तन उनके घर मे होते थे। ...
Read More

जनसंख्या विस्फोट . . .

प्रकृति से प्रदत है संसाधन सारे सीमित उत्तरोत्तर बढ़ती जनसंख्या से जन-जन होगा प्रभावित जनसंख्या विस्फोट जैसा कि शीर्षक से स्पष्ट है मान...
Read More

दहेज प्रथा . . .

अनुश्री द्वारा लिखित। प्रस्तावना:-  हमारे देश मे समस्याओं के बादल नित्य उमड़ते और बरसते रहते है। इनमे हमारे राष्ट्र और समाज की घोर क्षति ...
Read More

कन्या भ्रूण हत्या ..

मुझे वास्तविक जीवन पर आधारित कहानियां लिखना अच्छा लगता है । पर सब से पहेले में एक इंसान हूं । अपनी ज़िंदगी जीते हुए बहुत सारी ऐ...
Read More

प्रभात मनन . . .

तुम अविनाशी आत्मा     तुममें बसे बैठेहै परमात्मा सूर्य की तरह अटल रहना      चन्द्रमा सेअमृतोपम बनना ब्रह्मांड के शक्ति पुंज हो तुम     ...
Read More

क्या यही प्यार है

दिल से निकले लम्हे का सफर है, प्यार का एक मुकाम हासिल है, बातो से भी ज्यादा यादों में बहेतर है, पर साथ भी तुम्हारा ही तो है।
Read More

सैलाब

थम  गई है जमी उभरा है आंखो का सैलाब , बिखरा है ये दिल मेरा , तन्हा पड़ गया प्यार मेरा ।
Read More

मृगनयनी . . .

तेरी आँखे मृगनयनी सी।  मुख छब  अरुणिमा सी तू चंचल मृग छौने सी तेरी हर अदा बिजली सी।। सितारों के पार चलो। मेरे साथ दिलबर चलो। आओ कुछ देर ...
Read More

जय श्री राम . . .

सत्य ,अद्भुत ,अविश्वसनीय राम। अकल्पनीय चरित्र के धनी राम। अधर्म पर धर्म स्थापित करे राम। रोम रोम में ,घट घट में बसे राम। लेखनी सफल करते...
Read More

जलद चितराम . . .

नीलाम्बर ,सुरमई आँचल बिखेरे। गहरे तो कही हल्के नीले है घनेरे। कही कही कालिमा सुबह सवेरे। पयोधर चले लेने धरा से सात फेरे। कही ओस बूंदों,क...
Read More

ब्रा ही तो है यार . . .

जिसे देख तुमने उठाई शर्म की दीवार , एक लड़की के चरित्र को बताया दागदार , ये तो बस एक साधारण सी ब्रा है दोस्त , सब पर मत थोपो अपने खोखले ...
Read More

गुरु महिमा . . .

Image Credits Isha Foundation गर्भ वास की गुरु माँ है जीवन दाता ही माँ है माँ प्रज्ञा,ज्ञान देती है व्यक्तित्व बनाती है। द्वितीय गुरु ...
Read More

इस पोस्ट पर साझा करें

| Designed by Techie Desk