Latest News

हार मत मानना . . .

ऐ राही! तू चलता जा . . .

ऐ राही! तू चलता जा . . . ऐ राही! तू मेरी बात सुन, अपनी राह तू ख़ुद चुन। जितनी बार तु गिरे, उतनी बार तू संभलता जा, ऐ राही! तू चलता जा। जैसे सू...
Read More

सफलता . . .

सफलता . . . जो गिरते ही फूट जाए, वो मिट्टी का घड़ा नहीं हूँ। हां, गिरा मैं जरूर हूँ, परंतु मैं हारा नहीं हूँ। अपनी कठिनाइयों से स्वयं लड़ूं, इ...
Read More

75 वर्ष हो चुके आज़ादी के, फिर भी तिरंगे को लेकर सवाल क्यों ?

आज़ादी- कश्मीर और नागालैंड 75 वर्ष हो चुके आज़ादी के, फिर भी तिरंगे को लेकर सवाल क्यों? एक देश में एक ही झंडा हो, फिर कश्मीर और नागालैंड मे...
Read More

कहानी किस्मत की . . .

कहानी किस्मत की . . . कहानी जीवन की मैं सुनाऊ किसी को कैसे।  सफर जिंदगी का मेरा कभी आसान नहीं रहा।  जब भी आये सुकून के   दिन मेरे जीवन मे...
Read More

इस पोस्ट पर साझा करें

| Designed by Techie Desk